Ten Ways To Develop Self Goodwill | Goodwill Skills Training In Hindi.
 दमदार गुडविल बनाने के दस मंत्र, गुडविल स्किल्स ट्रेनिंग इन हिंदी, नमस्कार आपका स्वागत है आपका मेरे इस ऑफिसियल ब्लॉग पे स्वागत है| आज हम बात करेंगे की दमदार गुडविल कैसे विकसित करे | अगर आप अपने जिंदगी में कुछ अलग और सबसे हटकर करते है तो ये सारी गुडविल आपके अन्दर जरूर होनी चाहिए तो चलिए शुरू करते है अपने जानने का सिलसिला की साधारण गुडविल कैसे विकसित कैसे करे

साख(गुडविल) एक असाधारण शब्द हैं| बिज़नस की दुनिया में ये महत्वपूर्ण नहीं है की आप वास्तविकता में क्या हैं, बल्कि अहम बात ये है की दुनिया आपको क्या समझती हैं| मीडिया के सक्रियता के मौजूदा युग में वर्षो की मेहनत से बनाई हुई साख कुछ पल में मिट्टी में मिल सकती हैं| 'जीत या हार - रहो तैयार' पुस्तक में शामिल "गुडविल बढ़ाने के 25 मंत्र" अध्याय से कुछ खाश सुझाव पेश हैं|


01. खूबियाँ गिनाएं :
अपनी वास्तविकता कमजोरियों की चर्चा दुसरो से ना करें| इनका फायदा उठाकर दुसरे दुष्प्रचार करेंगे और आप पर हावी हो जायेंगे| हिम्मत हारने के बजाय ओनी कमजोरियों को कम करने की दिशा में काम करे| अपनी खूबियों को पहचानकर उनका प्रचार-प्रसार करे|

02. भड़ास न निकाले : 

कोई बुरी बात लग रही हो, लेकिन कहने भर से उसमे बदलाव नहीं होने वाला तो सिर्फ भड़ास निकलने के लिए कुछ भी न कहे! बार बार विरोधी स्वर में बोलने और आपति दर्ज करने वाले व्यक्ति की "टीम वर्क गुडविल" कम हो जाती हैं और दुसरो आपके साथ कार्य नहीं करना चाहते|

03. मुंह खोलें तो अच्छा बोलें : 

दुसरो को हमेशा अच्छा काम करने के लिए प्रोत्साहित करे| 'शानदार', 'गुड आईडिया' जैसे शब्द लगातार और नियमित रूप से इस्तेमाल में लाए|

04. प्रशंसा सबके सामने : 

निंदा गुडविल की सबसे बड़ी कैंची है| किसी में सुधार लाने के लिए भले आप उसकी आलोचना कर रहे हो, लेकिन अधिकांश लोग इसे व्यक्तिगत आघात के रूप में ले लेते हैं| ऐसे में किसी की भी प्रशंसा तो सबके सामने करे, लेकिन आलोचना (लोग इसे निंदा समझते है) करनी हो तो अकेले में करे|

05. जिंदगी को खुली किताब न बनाएं : 

कुछ लोग भावनात्मक रूप से कमजोर होते हैं| वे जरा-जरा सी बात पर हिम्मत हार जाते हैं| ये लोग किसी अनजाने व्यक्ति के सामने भी अपना भुत, भविष्य और वर्तमान खोलकर रख देते हैं| कहने की बात नहीं की खुली किताब जैसा जीवन अक्सर चर्चा का विषय बन जाता है| इससे बचें|

06. उत्हास और जूनून का मीटर : 

कुछ लोग खुद से नाराज़ रहते और दुसरे भी उन्हें दुनिया पर बोझ समझते हैं| ऐसे लोग हर काम हैं बेहद धीरे-धीरे करते हैं| इस तरह का न बनें| प्रसन्नचित दिखें, क्यूंकि कोई भी सुस्त और निरुत्साहित व्यक्ति का साथी नहीं बनना चाहता|

07. व्यस्त रहें : 

समय की पाबंदी का पालन करें| दुसरो को लग्न चाहिए की आप बातों के खरे हैं| इससे आपकी गरिमा बढती है| दुसरो के सामने सन्देश जाता है की आप मूल्यों और अनुशासन वाले व्यक्ति हैं|

08. समस्या नहीं, समाधान : 

कुछ लोगों को हर तरफ मुश्किलें ही नज़र आती हैं| वे अक्सर शिकायतें करते रहते हैं| ऐसे लोगो को परिवार या समाज में कोई पसंद नहीं करता| इसके विपरीत जो लोग ठंडे दिमाग से मुश्किलों का हल ढूंढते हैं, उनकी हर तरफ प्रशंसा होती है| आप ऐसा करेंगे तो आपकी भी सकारत्मक गुडविल बनेगी|

09. होमवर्क करें : 

किसी विषय पर दूसरों से बात कर रहे हैं तो उसका पहले से अध्ययन कर लें| दुसरो के सामने अलग-अलग मौकों पर विभिन्न विषयों पर विचार व्यक्त करेंगे तो सबके मन में आपकी विद्वतापूर्ण गुडविल बनेगी|

10. मौन भी बुद्धिमता : 

किसी विषय की जानकारी ना हो तो कभी गलत तर्क देकर अपना मत सिद्ध करने की कोशिश न करें, न ही सबके सामने अज्ञानता ही स्वीकार करें| ऐसे समय में बुद्धिमतापूर्ण मौन रखना सर्वश्रेष्ट होता है| सच तो ये है की कम बोलने से आपकी धीर-गंभीर व्यक्तित्व वाली गुडविल बनती है|

इस पोस्ट के जरिये मैंने आप लोगो तक अपने विचार साझा की हैं, अगर आपके मन में अभी भी किसी प्रकार की कोई संदेह या प्रश्न हैं तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं | हम आपके प्रश्नों का जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे और हाँ अगर “Ten Ways To Develop Self Goodwill | Goodwill Skills Training In Hindi” इससे जुडी कोई आपके विचार हैं तो कमेंट करके हमारे साथ शेयर कीजिये|